Latest Updated IC33 Hindi Paper 20

Que. 1 : निम्न में से कौन सा दिशा निर्देश स्वास्थ्य पॉलिसी की सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) के बारे में है?
   1.  पोर्टेबिलिटी फार्म प्राप्त होने पर बीमा कंपनी वर्तमान बीमा कंपनी से संबधित पालिसीधारी के चिकित्सा के इतिहास और दावे के इतिहास के आवश्यक विवरण मांगेगी । यह आईआरडीए के वेब पोर्टल के माध्यम से किया जाएगा।
   2.  इस तरह के पोर्टेबिलिटी के अनुरोध प्राप्त होने पर बीमा कंपनी 7 दिनों के भीतर इरडा के वेब पोर्टल में निर्धारित पोर्टिंग के लिए डेटा स्वरूप में अपेक्षित डेटा प्रस्तुत करेगी
   3.  यदि मौजूदा बीमा कंपनी निर्धारित समय सीमा के भीतर नई बीमा कंपनी को डाटा प्रारूप में अपेक्षित डेटा प्रदान करने में विफल रहती है, तो इसे दण्डात्मक प्रावधानों के अधीन अधिनियम, 1938 के अधीन इरडा द्वारा जारी किए गए निर्देशों के उल्लंघन के रूप में देखा जाएगा ।
   4.  उपरोक्त सभी
Que. 2 : निम्न में से कौन सा दिशा निर्देश स्वास्थ्य पॉलिसी की सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) के बारे में है?
   1.  मौजूदा बीमा कंपनी से डेटा प्राप्त होने पर, नई बीमा कंपनी विनियम 4 (6) आईआरडीए (पॉलिसीधारक के हित का संरक्षण) अधिनियम, 2002 के अनुसार प्रस्ताव को अंडर राइट (underwrite) कर सकती है और इस सम्बन्ध में फैसले से पॉलिसीधारक को अवगत करा सकती है।
   2.  यदि बीमा कंपनी उपरोक्त समय सीमा के भीतर डेटा प्राप्त होने पर बीमा कंपनी को अपने निर्णय के बारे में पॉलिसीधारक को 15 दिनों के भीतर अपनी हामीदारी नीति के बारे में सूचित नहीं करती है तो बीमा कंपनी इस तरह के प्रस्ताव को अस्वीकार करने का अधिकार रखती है और उसे प्रस्ताव को स्वीकार करना होगा।
   3.  जैसा कि ऊपर बताया गया है कि यदि पॉलिसीधारक ने छोटी अवधि के विस्तार का विकल्प चुना है और वहाँ एक दावा है तो मौजूदा बीमा कंपनी पॉलिसी वर्ष के शेष हिस्से हेतु शुल्क लेगा बशर्ते मौजूदा बीमा कंपनी द्वारा दावा स्वीकार किया जाता है; ऐसे मामलों में, पॉलिसीधारक शेष अवधि के लिए प्रीमियम का भुगतान करने और उस पॉलिसी वर्ष के लिए मौजूदा बीमा कंपनी के साथ जारी रखने के लिए उत्तरदायी होगा।
   4.  उपरोक्त सभी
Que. 3 : निम्न में से कौन सा दिशा निर्देश स्वास्थ्य पॉलिसी की सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) के बारे में है?
   1.  सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) में जो पॉलिसी है उसे स्वीकार करने के लिए, बीमा कंपनी कोई अतिरिक्त लोड या शुल्क नहीं लेगी
   2.  सुवाहय (ported) पॉलिसी को स्वीकृत करने हेतु किसी मध्यस्थ को कोई कमीशन देय नहीं होगा।
   3.  जैसा कि ऊपर बताया गया है कि यदि पॉलिसीधारक ने छोटी अवधि के विस्तार का विकल्प चुना है और वहाँ एक दावा है तो मौजूदा बीमा कंपनी पॉलिसी वर्ष के शेष हिस्से हेतु शुल्क लेगा बशर्ते मौजूदा बीमा कंपनी द्वारा दावा स्वीकार किया जाता है; ऐसे मामलों में, पॉलिसीधारक शेष अवधि के लिए प्रीमियम का भुगतान करने और उस पॉलिसी वर्ष के लिए मौजूदा बीमा कंपनी के साथ जारी रखने के लिए उत्तरदायी होगा।
   4.  उपरोक्त सभी
Que. 4 : निम्न में से कौन सा दिशा निर्देश स्वास्थ्य पॉलिसी की सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) के बारे में है?
   1.  सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) पिछली पॉलिसी के तहत बीमित राशि पर लागू होगा और बीमित राशि को बढ़ाएगा ,अगर बीमित द्वारा पिछले पॉलिसी के तहत पूर्व बीमा कंपनी से संचयी बोनस का अनुरोध किया जाता है
   2.  एक पॉलिसीधारी अपनी पॉलिसी को अन्य बीमा कंपनी (ओं) में पोर्ट (बदलना) करना चाहता है तो उसे उस बीमा कंपनी के पास परिवार के सभी सदस्यों के साथ आवेदन करना होगा और यह कम से कम 45 दिनों के मौजूदा पॉलिसी के प्रीमियम नवीकरण की तारीख से पहले करना होगा।
   3.  नई बीमा कंपनी सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) की पेशकश नहीं कर सकती यदि पॉलिसीधारक प्रीमियम नवीकरण की तारीख से कम से कम 45 दिनों के पहले IRDAI-निर्धारित प्रपत्र में आवेदन करने में विफल रहता है।
   4.  उपरोक्त सभी
Que. 5 : बीमा कंपनियां स्पष्ट रूप से पॉलिसीधारक के पॉलिसी अनुबंध और प्रचार सामग्री का ध्यान, बिक्री साहित्य या अन्य किसी भी रूप में किसी भी अन्य दस्तावेजों की तरह आकर्षित ध्यान करेंगी
   1.  समस्त स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पोर्टेबल होती है
   2.  पॉलिसी धारक को पॉलिसी को प्रस्ताव की स्वीकृति में देरी की वजह से तोड़ने से बचाने हेतु नवीकरण की तारीख से काफी पहले अन्य बीमा कंपनी के पास जाना चाहिए
   3.  ऊपर के दोनों
   4.  इनमे से कोई भी नहीं
Que. 6 : निम्न में से कौन स कथन सुवाह्यता (H499पोर्टेबिलिटी के बारे में सही है?
   1.  एक खास बीमारी या इलाज के लिए या नई पालिसी हेतु पहले ली गई पॉलिसी की तुलना में प्रतीक्षा अवधि अधिक है तो ऐसी दशा में नइ पॉलिसी अवधि का स्पष्ट रूप से पॉलिसीधारी द्वारा पोर्टेबिलिटी फॉर्म में उल्लेख होना चाहिए
   2.  समूह स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों के लिए, अलग-अलग सदस्य के रूप में निरंतर बीमा कवर के वर्षों की संख्या उपरोक्त उल्लेखित वर्षों की संख्या के आधार पर क्रेडिट दिया जायेगा चाहे पिछली पॉलिसी में पहले से मौजूद बीमारी शामिल हो या नहीं।
   3.  ऊपर के दोनों
   4.  इनमे से कोई भी नहीं
Que. 7 : निम्न में से कौन स कथन सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) के बारे में सही है?
   1.  मौजूदा पालिसी को छोटी अवधि के लिए, पॉलिसीधारक द्वारा अनुरोध करने पर प्रो-रेट को स्वीकृत कर कम से कम एक महीने हेतु बढ़ाया जा सकता है
   2.  मौजूदा पालिसी को तब तक रद्द नहीं किया जायेगा जब तक नई बीमा कंपनी से लिखित में इसकी पुष्टि न हो जाये
   3.  ऊपर के दोनों
   4.  इनमे से कोई भी नहीं
Que. 8 : निम्न में से कौन स कथन सुवाह्यता (पोर्टेबिलिटी) के बारे में सही है?
   1.  इन स्थितियों में, नई बीमा कंपनी जहाँ भी प्रासंगिक हो छोटी अवधि की समाप्ति की तारीख के साथ जोखिम के प्रारंभ होने की तिथि को मानेगी।
   2.  अगर किसी भी कारण से बीमित मौजूदा बीमा कंपनी के साथ बीमा पॉलिसी को आगे जारी रखने का इरादा रखना चाहता है तो इसे बिने किसी भी नई शर्त के इसे जारी रखने की अनुमति होती है
   3.  ऊपर के दोनों
   4.  इनमे से कोई भी नहीं
Que. 9 : निम्न में से कौन हामीदारी का एक उपकरण है?
   1.  प्रस्ताव प्रपत्र
   2.  आयु का प्रमाण
   3.  ऊपर के दोनों
   4.  इनमे से कोई भी नहीं
Que. 10 : निम्न में से कौन हामीदारी का एक उपकरण है?
   1.  वित्तीय दस्तावेज
   2.  मेडिकल रिपोर्ट
   3.  ऊपर के दोनों
   4.  इनमे से कोई भी नहीं