IC38 Hindi Chapter Notes 13


अध्याय – 13   प्रलेखन/दस्तावेज़ीकरण – पालिसी की स्थिति –I


प्रथम प्रीमियम रसीद (FPR):

जब जीवन बीमा कंपनी प्रथम प्रीमियम रसीद (FPR) जारी करती है तो  बीमा अनुबंध शुरू हो जाता है । प्रथम प्रीमियम रसीद (FPR)  इस बात का प्रमाण है कि पालिसी का अनुबंध शुरू हो गया है।

प्रथम प्रीमियम रसीद (FPR) में  निम्नलिखित सूचना शामिल होती है:

  1. बीमित का नाम और पता
  2. पॉलिसी का नंबर
  3. प्रीमियम के रूप में भुगतान की जानी वाली राशि
  4. प्रीमियम भुगतान करने की विधि और आवृत्ति
  5. प्रीमियम भुगतान की अगली तारीख
  6. जोखिम के प्रारंभ होने की तिथि
  7. पालिसी की अंतिम परिपक्वता की तिथि
  8. अंतिम प्रीमियम के भुगतान की तिथि

बीमित राशि : बीमित बीमा कंपनी के अधिकारी से एक नैतिक जोखिम रिपोर्ट मांग सकता है

पालिसी डॉक्यूमेंट

यह बीमित एवं बीमा कंपनी के मध्य हुए अनुबंध का प्रमाण है।

यदि बीमित व्यक्ति मूल जीवन बीमा के पॉलिसी दस्तावेज खो देता है तो  बीमा कंपनी के अनुबंध में किसी भी प्रकार बदलाव किए बिना डुप्लिकेट पालिसी का डॉक्यूमेंट जारी करेगी।

यह सक्षम प्राधिकारी द्वारा हस्ताक्षरयुक्त होना चाहिए तथा इस पर भारतीय स्टाम्प अधिनियम के अनुसार मुहर लगी होनी चाहिए।

पालिसी संबंधी दस्तावेज के घटक:

पॉलिसी अनुसूची: – इसमें पालिसी के स्वामी  का नाम व पता, जन्म तिथि, आयु, योजना और पालिसी की अवधि का विवरण होता है। क्या पालिसी सहभागिता या गैर सहभागिता वाली है, प्रीमियम का मोड, पालिसी की संख्या, पालिसी के प्रारंभ होने की तिथि , बीमित राशि, भुगतान किया जाने वाला प्रीमियम, राइडर का विवरण इत्यादि।

मानक प्रावधान:  ये प्रावधान सामन्यतया  समस्त अनुबंध में होते हैं।  ये प्रावधान  सभी अधिकारों और विशेषाधिकारों और अन्य शर्तों को परिभाषित करते हैं जैसे  अनुग्रह अवधि,  निरस्तीकरण की दशा में गैर-जब्तीकरन।

विशेष पालिसी प्रावधान: – ये दस्तावेज़ के मुख पृष्ठ पर मुद्रित होते हैं या एक अनुलग्नक के रूप में अलग से उल्लेखित होते हैं।

उदाहरण : अनुबंध करते/लिखते समय ही एक महिला की गर्भावस्था के कारण मौत, एक होने से संबध  धारा।