Hindi New Syllabus IC33 Paper 3

Que. 1 : IGMS शब्द का विस्तृत रूप है।
   1.  Integrated Grievance Management System
   2.  Insurance General Management System
   3.  Indian General Management System
   4.  Intelligent Grievance Management System
Que. 2 : किस मंच के अधिकार क्षेत्र में 100 लाख रुपये से अधिक शिकायतों को सुनना है?
   1.  जिला फोरम
   2.  राज्य फोरम
   3.  राष्ट्रीय फोरम
   4.  नगर फोरम
Que. 3 : लोकपाल से शिकायत की जा सकती अगर ___________
   1.  शिकायत किसी अन्य अदालत में एक लंबे समय से लंबित है
   2.  शिकायत अस्वीकृति की तारीख से 2 साल के भीतर की जा सकती है
   3.  शिकायतकर्ता बीमा कंपनी द्वारा दिए गए जबाब से संतुष्ट नहीं है
   4.  इनमे से कोई भी नहीं
Que. 4 : क्या राष्ट्रीय स्तर पर शिकायत करने के लिए कोई शुल्क है?
   1.  10,000रुपये।
   2.  15,000 रुपये।
   3.  5,000 रुपये
   4.  कोई शुल्क नहीं
Que. 5 : लोकपाल द्वारा प्रदत राशि/पुरस्कार निम्नलिखित नियमों से संचालित होते हैं :
   1.  राशि/पुरस्कार 20 लाख रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए
   2.  राशि/पुरस्कार इस तरह की शिकायत प्राप्त होने की तारीख से 3 महीने की अवधि के भीतर दिया जाना चाहिए
   3.  बीमा कंपनी प्राप्ति के 15 दिनों के भीतर राशि/पुरस्कार प्रदान करेगा तथा लोकपाल को एक लिखित सुचना भेजेगा
   4.  उपरोक्त सभी
Que. 6 : कौन सा अधिनियम उपभोक्ता हितों की सुरक्षा में सुधार के लिए पारित किया गया था?
   1.  1993 में मल्होत्रा ​​समिति
   2.  GIBNA 1872
   3.  उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम 1986
   4.  इनमे से कोई भी नहीं
Que. 7 : कौन से फोरम के अधिकार क्षेत्र में 20 लाख रुपये तक की शिकायतों का निपटारा करने की शक्ति है?
   1.  जिला फोरम
   2.  राज्य मंच
   3.  राष्ट्रीय फोरम
   4.  नगर मंच
Que. 8 : शिकयतों हेतु केंद्र सरकार द्वारा स्थापित न्यायिक चैनल है_________
   1.  राज्य मंच
   2.  जिला फोरम
   3.  राष्ट्रीय फोरम
   4.  लाइफलाइन
Que. 9 : _______ का अधिकार क्षेत्र है जहाँ वस्तुओं या सेवाओं और मुआवजे का दावे का मूल्य 20 रु लाख तक है
   1.  राज्य आयोग
   2.  जिला परिषद
   3.  राष्ट्रीय आयोग
   4.  जिला फोरम
Que. 10 : क्या एक निजी बीमा कंपनी के खिलाफ शिकायत की जा सकती है?
   1.  शिकायतें केवल सार्वजनिक बीमा कंपनियों के खिलाफ की जा सकती हैं
   2.  शिकायत जीवन बीमा में निजी बीमा कंपनियों के खिलाफ की जा सकती है
   3.  हाँ, शिकायत निजी बीमा कंपनियों के खिलाफ की जा सकती है
   4.  शिकायत केवल गैर-जीवन क्षेत्र में निजी बीमा कंपनियों के खिलाफ की जा सकती है.

Click Here to view with Answer